बारिश का मौसम मौज मस्ती के साथ बहुत से समस्याएं भी लाता है। इस मौसम में पेट की बीमारियां, जुकाम तथा बुखार आने की आशंका बढ़ जाती हैं। मौसम बदलने पर आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता पर असर होता है। इस कारण फ्लू, जुकाम तथा एलर्जी का ख़तरा भी इस मौसम में बढ़ जाता है। यदि आप चाहती हैं की आपकी सेहत भी अच्छी बनी रहे तथा आप मानसून का भी पूरा आनंद ले सकें तो आपको कुछ देशी जड़ीबूटियां उपयोग करनी होंगी। इनके सेवन से आप न सिर्फ बारिश का पूरा लुफ्त ले पाएंगी और बीमारियों से बची भी रहेंगी। आइये जानते हैं इन देशी जड़ीबूटियों के बारे में।

1 – तुलसी

तुलसीImage source:

तुलसी वैसे तो हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक है  यह गले की समस्याओं में काफी प्रभाव दिखाती है। तुलसी के पत्ते खांसी तथा गले में हुए बलगम को ख़त्म करने में बहुत लाभकारी होते हैं। यह हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है। मानसून के मौसम में प्रत्येक व्यक्ति को 2 कप तुलसी की चाय का सेवन अवश्य करना चाहिए। इसमें एंटी-बैक्टीरियल तत्व भी काफी मात्रा में पाए जाते हैं जो हमारे शरीर को इंफेक्शन से बचाते हैं।

2 – अश्वगंधा

अश्वगंधाImage source:

यह आपकी सहन शक्ति को बढ़ाता है साथ ही यह आपके तंत्रिका तंत्र को भी शांत करता है। यह आपके कोलेस्ट्रॉल तथा ब्लड शुगर को भी कम करता है तथा आपकी नींद की गुणवत्ता को भी अच्छा करता है। इसके सेवन से आप बारिश के मौसम में स्वस्थ रह सकती हैं।

यह भी पढ़ें – मानसून के दौरान डाइट में शामिल करें ये चीजें, बची रहेंगी बीमारियों से

3 – त्रिफला

त्रिफलाImage source:

इसमें तीन जड़ीबूटियां बहेड़ा, आंवला तथा हरड़ होती है। आवलें में विटामिन सी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। जो आपके जुकाम या सर्दी को ख़त्म करने में बहुत लाभकारी होता है। इसमें मौजूद बहेड़ा खांसी, लूजमोशन तथा जकड़न को दूर करता है। इसके अलावा हरड़ आपके गले तथा पाचन की समस्याओं को दूर करने में प्रभावशील होता है।

4 – गिलोय

गिलोयImage source:

यह आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। इसके अलावा यह आपके ब्लड में मौजूद वाइट सेल्स की प्रभावशीलता को बढ़ाता है। इसके सेवन से आपको बीमारियों से जल्दी निजात मिलती है। इस प्रकार से आप इन चार चीजों का सेवन कर मानसून के मौसम में बारिश का पूरा लुफ्त उठा सकती हैं।