आज इस भागदौड़ भरी जिंदगी में इस दुनिया का हर तीसरा व्यक्ति डिप्रेशन अर्थात तनाव भरी जिदंगी जी रहा है। इस बढ़ते तनाव के साथ-साथ शरीर में अनेक प्रकार की मानसिक एंव शारीरिक बीमारियां बढ़ती जा रही है। इस बढ़ते भौतिकवाद ने हर आम व्यक्ति को असुरक्षित कर दिया है। जिसे हर वक्त अपने भविष्य की चिंता सताती रहती है की आज जो काम वह कर रहा है उसका भविष्य क्या होगा? क्या यह कार्य उसे भविष्य में भी इतने ही साधन प्रदान करता रहेगा जो आज दे रहा है? कब उसका जीवन स्तर वर्तमान जीवन स्तर से नीचे आ जायेगा? यह प्रश्न भी तीन चैथाई लोगों के असंतोष का कारण बनता जा रहा है। नित्य समाज में अनेक प्रकार के संघर्ष को देखना पड़ता है। रिश्ते नातेदार भी एक दूसरे के लिए संवेदनहीन होते जा रहे हैं, हर तरफ षड्यंत्र की बू आने लगी है। किसी को दफ्तर पर कठिन शारीरिक श्रम या अत्यधिक काम के बोझ से तनाव तो किसी को स्कूल या कॉलेज की पढ़ाई से अधिक शैक्षणिक तनाव, तो कहीं पर भावनात्मक तनाव परिवार की समस्याओं या रिश्ते की समस्याओं से हो सकता है। इस तनाव का कारण अक्सर सिरदर्द, थकान, शरीर में दर्द और दिल का दौरो हो सकता है।

ऊपर के खतरनाक परिणामों को देखते हुए, तनाव से निपटने के लिए शारीरिक और मानसिक दोनों महत्वपूर्ण रूप से मजबूत होना आवश्यक हो गया है। तनाव से राहत पाने के कुछ उपाय हम आपको बता रहें हैं, जिससे आप अपने तनाव को कम कर सकते हैं।
तनाव से राहत पहुंचाने के उपाय

1. गहरी सांस लें – सुबह उठकर आप गहरी सांस लें और छोड़े। इस प्रक्रिया को आप कई बार दोपराए, इससे आप तनाव मुक्त रह सकते हैं।

Take-a-deep-breath-in-the-morning-you-take-a-deep-breath-and-let-goImage Source: https://www.howtogetrid.org/

2. हसें और मन को खुश रखें – शरीर में मन की खुशी आपके पूरे दुखों को कम कर देती है, इसलिए अपने आपको हमेशा खुश रखें। हंसी या मन की खुशी तनाव को कम करने के साथ व्यक्ति के मिजाज, व्यवहार को बदलने के साथ शरीर को भी प्रभावित करती है। इसके साथ ही आपके तनाव को भी कम कर देती है।

keep-happy-moodImage Source: https://www.publimetro.com.mx/

3. संतुलित आहार – खट्टे फल हो या पौष्टिक सब्जी, मांस, फलियां, और कार्बोहाइड्रेट आदि का संतुलित आहार लेने से मन खुश रहता है। कहा भी जाता है कि “मन चंगा तो कठौती में गंगा” एक संतुलित आहार न केवल अच्छा शरीर बनता है, बल्कि यह दुखी मन को भी अच्छा बना देता है।

BalancedDietImage Source: https://d54l0avl6wb49.cloudfront.net/

4. रोज व्यायाम करें – व्यायाम अवसाद को दूर करने का सबसे अच्छा तरीका है। इससे न केवल एक अच्छी सेहत मिलती है, बल्कि शरीर में एक सकारात्मक उर्जा का संचार भी होता है। व्यायाम करने से शरीर में सेरोटोनिन और टेस्टोस्टेरोन हारमोंस का स्त्राव होता है। जिससे दिमाग स्थिर होता है और अवसाद देने वाले बुरे विचार दूर रहते हैं।

Daily-ExerciseImage Source: https://expertbeacon.com

5. एक सकारात्मक सोच – आप यदि मुश्किल स्थिति में हैं, तो एक सकारात्मक सोच के साथ हमेशा आने वाली विपदा का सामना धैर्यता और साहस से करें। विपदा के समय साहस और धैर्यता जुटाने लिए शरीर को शक्ति की आवश्यकता होती है। यह भी समझना आवश्यक है की किसी भी विपदा से निकलने के लिए हम अपनी शक्ति से ही यथा संभव निकलने की चेष्टा कर सकते है। यदि परिस्थितियों पर हमारा कोई नियंत्रण नहीं है, तो उसके लिए परेशान होने से कोई हित होने वाला नहीं है। अपने शांत मन से ही समस्या का समाधान खोजा जा सकता है, इसलिए अपने मन को स्थिर रख कर ही परिस्थितियों पर नियंत्रण रखने का प्रयास करें।

Ways-to-relieve-stressImage Source: https://www.eusemfronteiras.com.br/

6. अपने काम को टाले नहीं – अपने कार्यो को हमेशा समय पर ही पूरा करें। इसे टालें नही टालने से काम कभी पूरा नहीं होता इसलिए काम को टालने की प्रवृत्ति से बचें और कार्य को उतना ही करें, जितनी आपकी क्षमता हो और उसे समय के साथ आसानी से कर सकें।

His-work-not-AvoidImage Source: https://i0.wp.com/madmikesamerica.com

आपकी जिंदगी एक अमूल्य धरोहर है, इसलिए अपने सभी कीमती क्षणों को इस तरह तनावपूर्ण जीवन से ना बिताए, हमेशा खुश रहें। हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपके जीवन में कुछ बदलाव ला सके यही हमारी कामना है। अतः आप इसे अपनाकर तनाव दूर करें और खुश रहे।