मौसम के बदलाव और बढ़ती ठंड के साथ लोगों को बीमारियां घेरना शुरू कर देती है। ऐसे में सबसे जरूरी होता है बचाव। आज हम आपको साइनस के बारे में बताने जा रहे हैं। जिसके बारे में ज्यादातर लोग नहीं जानते हैं। यह एक प्रकार का संक्रमण है जो मौसम बदलने के साथ-साथ लोगों को परेशान करने लगता है। जिसकी वजह से नाक की हड्डियों, सिर, गाल और ऑखों में कभी भी दर्द होने लगता है। हमारे चेहरे पर नाक के आसपास कई प्रकार के छिद्र होते हैं। जिन्हें साइनस कहा जाता है। जब इन छोटे-छोटे छिद्रों में संक्रमण होता है तो इसे साइनसाइटिस कहा जाता है।

ImaggggImage Source: https://www.sinussurgeryprocedure.com/

जब किसी शख्स को साइनस की दिक्कत होती है तो उसे सबसे ज्यादा दर्द ऑख और माथे पर महसूस होता है। और यह दर्द आगे झूकने और लेटने से और भी ज्यादा बढ़ जाता है। कभी कभी तो इसका अटैक इतना बढ़ जाता है की इसके दर्द से बुखार आना, नाक बंद हो जाना, और चेहरे पर सूजन हो जाती है |

जब किसी शख्स को साइनसImage Source: https://medly.ru/

साइनस से ग्रसित व्यक्तियों के नाक और गले में कफ जम जाता है। साथ ही धूल और धूंए से भी एलर्जी होने लगती है। वहीं जब ये रोग बढ़ जाता है तो अक्सर लोगों को अस्थमा और दमा जैसी गंभीर बीमारी होने का खतरा भी होता है। ऐसे में आज हम आपके लिए कई घरेलू तरीके लेकर आएं है जिनकी मदद से आप साइनस के संक्रमण को दूर कर सकती हैं। वैसे साइनस को कोई तरीकों से दूर किया जा सकता है। जिसमें से सर्जरी भी एक है। लेकिन कभी-कभी सर्जरी से भी यह संक्रमण पूरी तरह ठीक नहीं हो पाता है। ऐसे में हमारे ये टिप्स आपको इस दिक्कत से बाहर निकालने में काफी हद तक कारगार साबित हो सकते है।

साइनस से ग्रसित व्यक्तियोंImage Source: https://images.wisegeek.com/

नाक में वैसे तो हवा आती जाती रहती है। लेकिन हवा के साथ इसमें धूल, मिट्टी के कण, तरल पदार्थ भी प्रवेश करते हैं। जो की संक्रमण का कारण होते हैं। इसलिए साइनस का इलाज करने से पहले इसके बढ़ने के कारण और लक्षणों को पहचानना चाहिए। जिससे घरेलू तरीकों से ही इसके प्रभाव को कम किया जा सके और इसका सही तरीके से उपचार किया जा सके। तो चलिए आपको बताते हैं इस दिक्कत को दूर करने के लिए कुछ घरेलू नुस्खे।

3156-os-sintomas-as-vezes-sao-slider_medias-1Image Source: https://static1.sorrisologia.com.br/

गरम पानी का भाप
साइनस की समस्या से निजात पाने के लिए गरम पानी का भाप लेना चाहिए। इससे नाक और गले में जमे धूल और मिट्टी के कणों को बाहर निकलने में मदद मिलती है। इसलिए रोजाना एक पतीले में गरम पानी करके 5 से 10 मिनट तक गरम पानी का भाप लेना चाहिए। इसके अलावा पानी में यूकेलिप्टस के तेल की कुछ बूंदे मिलाकर भाप लेने से भी साइनस के दर्द में काफी राहत मिलती है।

गरम पानी का भापImage Source: https://cdn.diyhomethings.com/

खाद्य पदार्थों का सेवन करें

साइनस की शिकायत होने पर व्यक्ति को उचित भोजन का सेवन करना चाहिए। जैसे हल्की पकी हुई सब्जियों का सूप, सेम,दाल, साबूत अनाज और सूप आदि का सेवन। इसके साथ ही गले और नाक में बलगम पैदा करने वाले खाद्य पदार्थ जैसे ज्यादा तले हुए पदार्थ, चॉकलेट, अंडे, चीनी और मैदा से बनी चीजों का सेवन करने से बचना चाहिए। ज्यादा तेल मसालों का सेवन करने से मुंह में कफ बनने में मदद मिलती है। इसलिए इनके सेवन से भी बचें और जितना हो सके उतना अधिक पानी पिएं।

खाद्य पदार्थों का सेवन करेंImage Source: https://images.patrika.com/

लहसून और प्याज का सेवन
प्याज और लहसून साइनस से पीड़ित लोगों के लिए जड़ी बूटी का काम करता है। इन्हें भोजन में शामिल करने से यह शरीर में बनने वाले बलगम को खत्म करने और बलगम को शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है। प्याज में मौजूद सल्फर सर्दी, खांसी और साइनस के संक्रमण के लिए एंटी बैक्टिरियल का काम करता है। प्याज को काटते समय जो महक आती है उससे भी साइनस में काफी आराम मिलता है। लहसून और प्याज का उपयोग करने के लिए दोनों को पानी में उबाल कर भाप लें। इससे साइनस के दर्द से आपको काफी राहत मिलेगी। इसके अलावा आप प्याज और लहसून को पानी में गरम करके एक बोतल में रख लें और दर्द वाले स्थान पर सिकाई करें इससे भी आप का दर्द कम होगा।

Onion and garlicImage Source: https://www.vegkitchen.com/

खुद को हाइड्रेट रखें
साइनस के संक्रमण से छुटकारा पाने के लिए शरीर को हाइड्रेट रखना बहुत जरूरी होता है। इससे बलगम को पतला करने और शरीर से बाहर निकलने में मदद मिलती है। इसलिए फलों का रस, पानी और गरम चाय का सेवन करना चाहिए।

hydrationImage Source: https://foodmatters.tv/

कुछ अन्य तरीके
1.गरम पानी में पुदीने के रस की कुछ बूंदे डालकर भाप लेने से सिरदर्द और नाक के दर्द में आराम मिलता है।

गरम पानी में पुदीने के .Image Source: https://healthytipswiki.com/

2.मेथी के बीजों को गरम पानी में उबालकर पीने से भी साइनस के संक्रमण को रोका जा सकता है।

मेथी के बीजों को गरम पानीImage Source: https://i39.servimg.com/

3.जैतून के तेल से नाक और सिर पर मालिश करने से साइनस के दर्द को कम किया जा सकता है।

जैतून के तेल से नाक औरImage Source: https://cdn.simplesite.com/

4.गाजर का रस साइनस के संक्रमण से बचने में मदद करता है। एक गिलास गाजर के रस में खीरे और पालक के रस को मिलाकर पीने से साइनस के लक्षणों का उपचार किया जा सकता है।

गाजर का रस साइनस के संक्रमणImage Source: https://1.bp.blogspot.com/

5.अपने भोजन में जीरा, लौंग, धनिया और सौंफ का शामिल करें। इससे साइनस के दर्द में जल्द आराम मिलता है।

अपने भोजन में जीरा, लौंगImage Source: https://tegyjot.hu/

6.गरम पानी में अदरक की कुछ बूंदे डालकर रोजाना पीने से शरीर में बलगम बाहर निकलने में मदद मिलती है।

गरम पानी में अदरक की-Image Source: https://4.bp.blogspot.com/

7.अनानास में मौजूद ब्रोमन और नारियल में मौजूद पौटेशियम साइनस संक्रमण से ग्रसित रोगियों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। इसलिए इसका सेवन करना ठीक रहता है।

अनानास में मौजूद ब्रोमनImage Source: https://i9.dainikbhaskar.com/

8.योगा के द्वारा भी साइनस के दर्द से छुटकारा पाया जा सकता है। इसलिए सांस से जुड़े आसन जैसे प्राणायाम, अनुलोम-विलोम, भ्रमारी, जल नेत्री करने से साइनस में आराम मिलता है।

योगा के द्वारा भी साइनसImage Source: https://i.ytimg.com/