अक्सर छठे महीने में जब बच्चा मां का दूध पीना छोड़कर दाल, चावल और दलिया आदि खाना शुरू करता है, तो ऐसे में उसे कब्ज की समस्या होने लगती है। बच्चे अपने दुख के बारे में किसी को बता तो नहीं पाते हैं, लेकिन वह रो-रोकर और चिल्लाकर अपनी परेशानी अपनी मां को समझाने का प्रयास करते हैं। ऐसे में हम आपको बता दें कि आप कुछ घरेलू उपचारों का इस्तेमाल करके अपने बच्चों को इस समस्या से छुटकारा दिला सकती हैं।

image source:

यह भी पढ़ेः कब्ज को करें घरेलू उपायों से दूर

1. अंजीर
अंजीर का सेवन अगर कब्ज के दौरान किया जाए, तो यह काफी फायदेमंद होता है। अंजीर को रात के समय भिगोकर सुबह-सुबह इसे बच्चे को खिला दें।

image source:

2. हरड़
हरड़ के चूर्ण को एक चुटकी भर लेकर उसमें काला नमक मिला लें। इसे दिन में 3 से 4 बार अपने बच्चे को चटाएं। ऐसा करने से पेट में कब्ज नहीं रहेगी।

image source:

यह भी पढ़ेः हमारे शरीर को कई तरह से फायदा पहुंचाते हैं अंगूर

3. शहद
गुनगुने पानी में शहद मिलाकर इसका सेवन अपने बच्चे को करवाएं। ऐसा करने से उसकी कब्ज की समस्या दूर हो जाएगी।

image source:

4. पालक का सूप
बच्चे को कब्ज होने पर अगर आप उसे पालक का सूप बनाकर पिलाती हैं, तो ऐसे में यह कब्ज में काफी फायदेमंद होता है। अगर आपका बच्चा पालक का सूप नहीं खाता है तो आप उसे पालक की सब्जी भी खिला सकती हैं।

image source:

5. मुनक्का
मुनक्के को रात में पानी में भिगो लें, इसके बाद जब यह फूल जाएं तो इसे पानी को छानकर अपने बच्चे को इसका सेवन करवाएं।

image source:

यह भी पढ़ेः बेल का जूस पीने से शरीर को मिलेंगे यह लाभ