बच्चे की झिझक और शर्मिलेपन को इस तरह करें दूर

-

एक बच्चे का स्वभाव भिन्न हो सकता हैं। उसकी पसंद अलग हो सकती हैं। कई बच्चों को बड़ों से बात करने में झिझक होती हैं। अपने स्कूल के किसी फंक्शन में हिस्सा लेने या फिर अपने टीचर से भी बात करने में उन्हें संकोच होता हैं। अगर इस ओर ध्यान नहीं दिया जाए, तो बच्चे आगे चलकर दब्बू और शर्मिला स्वभाव के बन जाते हैं। आइए जानते हैं ऐसे शर्मिले बच्चों के व्यवहार को बदलने के बारे में…

यह भी पढ़ें – स्कूल जाने से कतरा रहा हो आपका बच्चा, तो अपनाएं ये तरीके

1. बाहरी की दुनिया दिखाएं (Show the world outside)-

कई बार बच्चों में दब्बू और शर्मिलेपन की आदतें उनके पेरेंट्स की वजह से ही आती हैं। ऐसा देखा जाता हैं कि कई माता-पिता अपने बच्चों को डांटते रहते हैं। जिस कारण उनका स्वभाव दब्बू बन जाता हैं। ऐसे में अपने बच्चे को बाहर की दुनिया दिखाएं। उन्हें अपने पड़ोस के बच्चों के साथ खेलने और रिश्तेदारों से मिलवाते रहें।

Show the world outsideimage source:

2. प्रतिभा को जानें (Know talent)-

शर्मिले बच्चे के व्यवहार को बदलने के लिए उन्हें पढ़ाई के अलावा अन्य गतिविधियों में भी शामिल करवाएं। उनके शौक को पहचाने और उसको उसी तरफ आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करें। इससे बच्चा अपने स्कूल के अलावा भी बाहर की दुनिया को देख पाएगा, जिससे उसकी झिझक कम होगी।

Know talentimage source:

यह भी पढ़ें – आपका बच्चा स्वीमिंग करने जा रहा है तो इन बातों पर करें गौर

3. अकेला न छोड़ें (Do not leave alone)-

अक्सर देखा जाता हैं कि पेरेंट्स अपने बच्चे को हर काम में टोकते रहते हैं, ऐसे में बच्चे अकेले रहना ही पसंद करते हैं और अपने दोस्तों से बातचीत करना या उनके साथ खेलना भी बंद कर देते हैं, इसलिए अपने बच्चे को परिवार के बीच रहना सिखाएं। उन्हें अकेला ना छोड़े।

Do-not-leave-aloneimage source:

4. सवालों का दें जवाब (Answer to questions)-

जो पेरेंट्स कामकाजी होते हैं, वह अपने बच्चों को ज्यादा टाइम नहीं दें पाते हैं। जिस कारण बच्चे जब अपने मन में चलने वाले सवालों के बारे में उनसे पूछते हैं, तो पेरेंट्स उनका जवाब नहीं दें पाते हैं और उन्हें बाहर खेलने के लिए बोल देते हैं। ऐसे में बच्चों के मन में उलझन बनी रहती हैं और वे आत्मविश्वासी नहीं बन पाते हैं। आपको बता दें कि बच्चों को प्रोत्साहित करने के लिए उनके हर सवाल का जवाब देना जरूरी हैं।

Answer-to-questionsimage source:

यह भी पढ़ें – गर्भकाल के दौरान इन बातों से आपका बच्चा बन सकता है ‘गूगल ब्वॉय’

.

Share this article

Recent posts

पितृपक्ष में करेंगे ये काम तो आशीर्वाद बनकर बरसेगी पितरों की कृपा

हिन्दू धर्म में पितृपक्ष का बड़ा महत्त्व है, इस अवधि में लोग अपने पितरों और पूर्वजों का तर्पण कराते हैं और जो ये नहीं...

कहीं आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता या इम्युनिटी कमज़ोर तो नहीं? ऐसे पता करें

इम्यूनिटी मतलब शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता जो हमें टॉक्सिन्स से लड़ने की क्षमता प्रदान करती है। ये टॉक्सिन्स वायरस, बैक्टीरिया, फंगस, पैरासाइट या...

7 लाजवाब रोमांटिक टिप्स जो इन बारिशों में आपको महका देंगे, आज़मा कर देख लीजिए !

बारिश और रोमांस का एक अजीब अनकहा सा नाता है जो शायद कह कर न बताया जा सके पर वक़्त पर महसूस रूह तक...

19 आकर्षक मेंहदी डिजाइन जो आपकी खूबसूरती में चार-चाँद लगा देंगे

मेंहदी हमेशा से ही महिलाओं के दिलों में एक ख़ास जगह रखती है और किसी तीज-त्योहार में तो इसके लिए होड़ लग जाती है...

इस स्वतंत्रता दिवस पर ज़रूर याद करें देश के लिए इन वीरांगनाओं का अमूल्य योगदान

इस 15 अगस्त 2020 को हम अपने देश के स्वतंत्रता की 73वीं साल गिराह मनाने जा रहें हैं। वैसे वर्तमान समय और परिस्थितियों को...

Popular categories

Html code here! Replace this with any non empty raw html code and that's it.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Recent comments